उत्तर प्रदेश सहित देश भर में किसान कर्ज की वजह से आत्महत्या कर रहे हैं. महाराष्ट्र में किसानों का हाल सबसे बुरा हैं. विपक्ष ने किसानों की कर्ज माफ़ी के लिए महाराष्ट्र में बीजेपी सरकार के खिलाफ मौर्चा खोला हुआ हैं. इसी बीच केंद्रीय मंत्री एम वेंकैया नायडू ने कहा कि किसानों की कर्ज माफ़ी का किया गया वादा सिर्फ यूपी के लिए था न कि पुरे देश के लिए.

उन्होंने कहा, चुनाव प्रचार के दौरान भाजपा नेतृत्व ने उत्तर प्रदेश के किसानों के लिये फसल कर्ज माफी का जो आश्वासन दिया था, वह विशिष्ट राज्य आधारित था. सरकार गठन होते ही वह निश्चित ही सकारात्मक रूप से इस दिशा में विचार करेंगे और इसे लागू करने की कोशिश करेंगे.

नायडू ने पीटीआई को बताया, सरकार की यह राष्ट्रीय नीति नहीं है. यह राज्य विशिष्ट है. कुछ अन्य राज्यों से भी इसी तरह की कर्ज माफी की मांगों का हवाला देते हुए केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने कहा, कर्ज माफी संसाधन और राज्यों की वित्तीय व्यवहार्यता पर निर्भर करता है. वे खुद फैसला लेने के लिये स्वतंत्र हैं.

याद रहे, उत्तर प्रदेश चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किसानों के लिये कर्ज माफी का वादा किये जाने पर हाल में निचले सदन में चर्चा के दौरान कई दलों के सदस्यों ने इस पर आपत्ति जतायी थी और मांग की थी कि किसानों की आत्महत्या की संख्या में कमी लाने के लिये सरकार को पुरे देश के किसानों का कर्ज माफ करे.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?