वोटिंग के दौरान सिर्फ ‘आधार’ हो सकता है पहचान प्रमाण पत्र: कृष्णमूर्ति

7:06 pm Published by:-Hindi News

वोटिंग के लिए विभिन्न पहचान के दस्तावेजों के स्थान पर आधार को एक मात्र पहचान प्रमाण पत्र  के रूप में इस्तेमाल करने की वकालत करते हुए पूर्व मुख्य निर्वाचन आयुक्त टी एस कृष्णमूर्ति ने कहा कि  आधार कार्ड को एकमात्र पहचान पत्र के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है.

भाषा की रिपोर्ट के अनुसार, कृष्णमूर्ति ने कहा, आज हमारे पास बहुत से कार्ड हैं जिससे कई जटिलतायें हैं. प्रणाली में इतनी सारी जटिलताएं उत्पन्न न करें. समय आ गया है, हमें केवल एक कार्ड पर विचार करना चाहिए, कार्ड चाहे जो भी हो.

उन्होंने कहा, पहचान का प्रमाण आधार कार्ड हो सकता है, जब आप इसका इस्तेमाल अन्य सभी कार्य के लिए कर रहे हैं. ध्यान रहे वोट डालने के लिए वर्तमान में चुनाव आयोग पहचान पत्र न होने की स्थिति में पहचान के प्रमाण के तौर पर पासपोर्ट सहित कई अन्य दस्तावेजों को मान्यता देता है.

कृष्णमूर्ति ने कहा कि अकेले आधार को मतदाता पहचान पत्र बनाया जा सकता है. आप मतदाता पहचान पत्र और साथ ही साथ आधार कार्ड क्यों रखना चाहते हैं

उन्होंने कहा, अगर सभी मतदाता आधार से जुड़ जाते हैं, तो आप मतदाता पहचान पत्र को समाप्त कर सकते हैं और आधार को मतदान कार्यों के लिए एकमात्र पहचान पत्र बनाया जा सकता है.

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें