देहरादून | उत्तराखंड में कल विधानसभा चुनावो के लिए मतदान होना है. यह चुनाव मुख्यमंत्री हरीश रावत के भविष्य का फैसला करेगा. अगर वो यह चुनाव हार गए तो प्रदेश के अलावा पार्टी के अन्दर भी उनकी स्थिति कमजोर हो जाएगी. जबकि जीतने पर पर उनका कद और बड़ा हो जायेगा. इसका कारण यह है की बागियों के पार्टी छोड़ देने के बाद प्रदेश कांग्रेस में वो अकेले चेहरे है जिसके बल पर पार्टी चुनाव लड़ रही है.

हरीश रावत अकेले प्रदेश के दिग्गजों के साथ मुकाबला कर रहे है. ऐसे में अगर वो विपक्षियो को पटखनी देते है तो वो एक बड़े नेता के तौर पर उभरकर सामने आयेंगे. लेकिन मतदान से पहले हरीश रावत का एक और स्टिंग सामने आने से विपक्ष के हाथो बटेर लग गयी. सोमवार को एक निजी चैनल पर प्रसारित इस स्टिंग में दिखाया गया है की कैसे हरीश रावत , बीजेपी के विधायक को तोड़ने की कोशिश कर रहे है.

हालाँकि यह स्टिंग उस समय का है जब हरीश रावत के खिलाफ कुछ कांग्रेसी विधायक बागी हो गए थे और वो बहुमत साबित करने के लिए जद्दोजहद कर रहे थे. उस समय भी उनका एक ऐसा ही स्टिंग सामने आया था. इस स्टिंग में हरीश रावत बीजेपी के पूर्व विधायक और फ़िलहाल कांग्रेस के टिकेट से चुनाव लड़ रहे दान सिंह भंडारी को तोड़ते हुए दिखाई दे रहे है.

रावत का स्ट्रिंग प्रसारित होते ही बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने उनसे इस्तीफे की मांग की. उन्होंने कहा की नैतिकता के आधार पर रावत को अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए. उधर स्टिंग में दिखाए गये बीजेपी के पूर्व विधायक और अब कांग्रेस में शामिल हो चुके दान सिंह भंडारी ने कहा की बीजेपी को चुनावो में हार दिखाई दे रही है इसलिए वो इस तरह की साजिश रच रहे है. उधर रावत के मुख्य प्रवक्ता सुरेन्द्र कुमार ने चुनाव आयोग को चिट्ठी लिख इस स्टिंग के प्रसारण पर रोक लगाने की मांग की है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें