Sunday, October 24, 2021

 

 

 

उमर खालिद की परिवार से मिलने नहीं मिली इजाजत, अदालत ने की याचिका खारिज

- Advertisement -
- Advertisement -

दिल्ली दंगों में साज़िशों के आरोपो को लेकर गिरफ्तार किए गए जेएनयू पूर्व छात्रनेता उमर खालिद की परिजनों से मिलने की मांग करने वाली याचिका को अदालत ने खारिज कर दिया है। उमर खालिद ने पुलिस रिमांड में परिजनों से मिलने की मांग की थी।

कड़कड़डूमा स्थित अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश अमिताभ रावत की अदालत ने कहा कि रिमांड के दौरान परिवार से मिलने की अनुमति नहीं दी जा सकती है। क्योंकि यह कानून के मुताबिक न्यायसंगत नहीं है। इसलिए याचिका को खारिज किया जाता है। उमर खालिद 24 सितंबर तक दस दिनों की पुलिस रिमांड में है।

उमर को सख्त आतंकवाद रोधी कानून, गैर कानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया है। खालिद के वकील द्वारा अदालत में दायर याचिका में आग्रह किया गया था कि उनके मुवक्किल को दस दिन लंबी पुलिस रिमांड पर दिया गया है। इससे वह बहुत तनाव में है। ऐसे में उसके परिवार के सदस्यों को दो दिन आधे-आधे घंटे की मुलाकात की अनुमति दी जाए।

वकील ने उमर खालिद की सुरक्षा को लेकर भी आशंका जाहिर की थी। इस पर संबंधित डीसीपी को आरोपी की सुरक्षा पुख्ता रखने के लिए कहा गया था। दिल्ली पुलिस ने आवेदन के जवाब में कहा कि कोर्ट के आदेश के अनुसार उमर खालिद की मुलाकात रोजाना 30 मिनट उसके वकील से करवाई जाती है। उसके माध्यम से वह अपने परिजनों को संदेश दे सकता है।

अदालत ने कहा कि कानूनी प्रावधान के अनुसार ऐसा नहीं किया जा सकता। वैसे भी आरोपी एक गंभीर अपराध का आरोपी है। उसे इस तरह की राहत नहीं दी जा सकती।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles