1211

दिल्‍ली में कॉन्‍स्‍टीट्यूशन क्‍लब के बाहर जेएनयू छात्र उमर खालिद पर हमला करने वाला संदिग्‍ध  का सुराग पुलिस के हाथ मे आया है। संदिग्‍ध सीसीटीवी में दिखा है।

दरअसल, विठ्ठलभाई पटेल रोड पर लगे सीसीटीवी में सोमवार को हुई गोलीबारी के बाद एक शख्‍स भागता हुआ दिखाई दे रहा है। दिल्ली पुलिस के मुताबिक, करीब 2.30 बजे एक सीसीटीवी में एक शख्स बिट्ठल भाई पटेल मार्ग की तरफ भागता नजर आ रहा है।  न्यूज एजेंसी ANI ने आरोपी की तस्वीर जारी की है।

दिल्ली रेंज के संयुक्त पुलिस आयुक्त अजय चौधरी ने कहा कि पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि गोलियां चलायी गयीं या नहीं। पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ आर्म्स एक्ट और हत्या के प्रयास का केस दर्ज कर लिया है। अपने उपर हुए हमले के बाद उमर खालिद ने कहा कि ‘देश में खौफ का माहौल है और सरकार के खिलाफ बोलने वाले हर व्यक्ति को डराया-धमकाया जा रहा है।’ खालिद ने कहा कि मैं पुलिस सुरक्षा की मांग करूंगा।

डियन एक्सप्रेस से बातचीत में खालिद ने हमले के बारे में कहा, “मैंने नोटिस किया कि उसके हाथ में एक गन है तो मैंने उसका हाथ पकड़ने की कोशिश की। मैं डरा हुआ था क्योंकि वह मुझे शूट करने की कोशिश कर रहा था। उसने मुझे धक्का देकर जमीन पर गिरा दिया। इसके बाद उसने मुझे मारा. जब मेरे दोस्तों ने उसे भगाने की कोशिश की तो वह गन फेंककर भाग गया। मैंने दूर से गोली चलने की आवाज सुनी। जाहिर है उस गन से गोली चलाई गई थी।”

उन्होंने कहा कि मुझे नहीं पता कि गोली चलाने वाला कौन था, लेकिन पिछले कुछ दिनों से जो मेरे खिलाफ दुष्प्रचार किया गया है कि अब लोगों को लगता है कि ऐसे लोगों को मार दिया जाना चाहिए। वहीं जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने कहा कि हमले के पीछे कौन है यह ढूंढना पुलिस का काम है।  उन्होंने कहा कि हमले किस वजह से हो रहे हैं यह वजह हम सबको पता है। वहीं दलित नेता और गुजरात से विधायक जिग्नेश मेवानी ने हमले के लिए भाजपा और आरएसएस को जिम्मेदार ठहराया।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें