श्रीनगर | स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने लाल किले की प्राचीर से बोलते हुए कश्मीर समस्या पर अपनी राय रखी. उन्होंने कहा की मैं मानता हूँ की कश्मीर समस्या न ही गोली से हल हो सकती है और न ही गाली से. यह समस्या केवल गले मिलने से हल हो सकती है. हमें हर कश्मीरी को गले लगाना होगा. इस दौरान मोदी ने अलगावादियों पर भी प्रहार किया. उन्होंने कहा की अलगावादी रोजाना नए पैंतरे चलते है.

मोदी के लाल किले की प्राचीर से कश्मीर समस्या पर बोलने के बाद जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अबुद्ल्ला ने सवालिया लहजे में एक ट्वीट किया. उन्होंने पुछा की क्या प्रधानमंत्री का यह कथन की कश्मीर समस्या गाली और गोली से हल नही होगी , सुरक्षा बलों पर भी लागु होता है. उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर लिखा,’ वास्तव में उन्होंने (मोदी) कहा कि कश्मीर मुद्दा गालियों और गोलियों से हल नहीं हो सकता. मुझे उम्मीद है कि यह आतंकवादी और सुरक्षा बल दोनों पक्षों के लिए है.’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बताते चले की अभी कुछ दिन पहले उमर अब्दुल्ला ने जम्मू में बोलते हुए अनुच्छेद 35A हटाने के सवाल पर कहा था की अगर यह अनुच्छेद हटाया गया तो कश्मीर में बाहरी लोग आकर रहने लगेंगे जो बेहद खतरनाक होगा. इसके अलावा उमर ने धारा 370 हटाने पर भी अपनी राय रखी. उन्होंने कहा की प्रधानमंत्री मोदी चुनाव के समय वादा करते थे की धारा 370 को हटा देंगे लेकिन जब अपने आप से कुछ नही हुआ तो सुप्रीम कोर्ट का रुख कर लिया.

मालूम हो की प्रधानमंत्री मोदी ने लाल किले से बोलते हुए कहा की हमें न्यू इंडिया के संकल्प के साथ आगे बढ़ना होगा. इस दौरान उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र करते हुए कहा की सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पूरी दुनिया ने हमारा लोहा माना. आतंकवाद के खिलाफ हम अकेले लड़ाई नही लड़ रहे है बल्कि कई देश हमारे साथ है. इसके अलावा उन्होंने सुरक्षाबलों को धन्यवाद देते हुए कहा की कश्मीर के युवाओं को मुख्यधारा में लाने के लिए मैं उनको धन्यवाद देता हूँ.

Loading...