नई दिल्ली: भारत ‘विशिष्ट अतिथि’ के रूप में पहली बार इस्लामी सहयोग संगठन (ओआईसी) की बैठक में शिरकत करेगा. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को अगले महीने होने वाली इसकी मंत्रिपरिषद बैठक के उद्घाटन सत्र को संबोधित करने के लिए आमंत्रित किया गया है.

विदेश मंत्रालय (MEA) ने कहा, ‘सुषमा स्वराज 1 और 2 मार्च के दौरान अबू धाबी में इस्लामिक सहयोग संगठन के विदेश मंत्रियों की परिषद के 46वें सत्र के उद्घाटन समारोह को संबोधित करेंगी.’ भारत ने निमंत्रण के लिए यूएई के नेतृत्व को धन्यवाद दिया और कहा कि इसे स्वीकार करने में खुशी है.

Loading...

विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘हम इस निमंत्रण को यूएई के प्रबुद्ध नेतृत्व की इच्छा के रूप में देखते हैं जो हमारे तेजी से बढ़ते हुए निकट द्विपक्षीय संबंधों से आगे बढ़कर बहुपक्षीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक सच्ची बहुपक्षीय साझेदारी कायम करता है.’

बयान में कहा गया कि आमंत्रण यूएई के साथ द्विपक्षीय व्यापक रणनीतिक साझेदारी में ‘एक मील का पत्थर’ है. बता दें कि ओआईसी, मुस्लिम देशों की आवाज और उनके हितों की रक्षा करने के लिए दुनिया भर में जाना जाता है. संयुक्त राष्ट्र (यूएन) और यूरोपीय संघ (ईयू) में इसके स्थाई सदस्य भी हैं.

ऑर्गनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कोऑपरेशन (OIC) 1969 में स्थापित किया गया एक अंतरराष्ट्रीय संगठन है, जिसमें 57 सदस्य राष्ट्र शामिल हैं। इसमें 40 देश मुस्लिम प्रमुख देश हैं.

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें