wak

मध्यप्रदेश में चुनाव आयोग के आदेश पर जांच करने के बाद प्रशासन ने वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष शौकत मोहम्मद का ऑफिस सील कर दिया है।

दरअसल, मध्यप्रदेश वक़्फ़ बोर्ड के चेयरमैन शौकत मोहम्मद ख़ान का कार्यकाल 13 अगस्त 2018 को ख़त्म हो गया।लेकिन वह पद से नहीं हट रहे थे। माना जाता है कि शौकत मोहम्मद का पूरा कार्यकाल विवादों से घिरा रहा है।

न्यूज़ 18 के अनुसार, शौकत मोहम्मद ख़ान ने वक़्फ़ बोर्ड के बैठक में अपना कार्यकाल बढ़ाने का प्रस्ताव खुद पेश किया. बैठक में मौजूद 3 सदस्यों में से केवल एक सदस्य ने इसका समर्थन किया। प्रस्ताव पारित नहीं होने के बावजूद शौकत वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष का पद छोड़ने को तैयार नहीं हैं।

बोर्ड ने इनके कार्यकाल को बढ़ाने की पुष्टि नहीं की हैं, इसलिए शौकत मोहम्मद ख़ान क़ानूनी तौर पर अब मुतवल्ली कमेटी के अध्यक्ष भी नहीं रहे।

वक्फ़ एक्ट के मुताबिक अगर कोई व्यक्ति नियम अनुसार मुतवल्ली नहीं रहेगा तो बोर्ड की सदस्यता से भी अयोग्य हो जायेगा। ऐसी स्थिति में 13 अगस्त 2018 के बाद शौकत मोहम्मद ख़ान द्वारा वक्फ़ बोर्ड में किया गया कार्य या लिए गए फैसले खुद ही अवैधानिक हो माने जाएंगे।

जब ये मामला चुनाव आयोग के पास पहुंचा तो आयोग ने इस पूरे मामले की जांच कराई। इसके बाद प्रशासन ने शौकत मोहम्मद के ऑफिस को सील कर दिया।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें