another-case-of-violence-in-the-name-of-gau-raksha-cow-protectors-kill-man-in-karnataka-for-transporting-cows

केंद्र की मोदी सरकार ने अब गाय और भैंसों को भी आधार कार्ड देने का फैसला किया हैं. इसके लिए एक मास्टर प्लान तैयार किया गया हैं जिसके तहत गाय और भैंसों को भी आधार जैसा यूनीक आईडेंटिफिकेशन नंबर (UID) मिलेगा.

148 करोड़ रुपए खर्च कर देश भर के मवेशियों को एक लाख लोग टैग लगाएंगे. सभी मवेशियों के कान में 8 ग्राम के वजन वाला एक टैग लगाया जाएगा. इस टैग पर 12 अंकों का एक यूनीक नंबर दर्ज होगा. इसके लिए उन लोगों को 50 हजार टैबलेट भी सौंप दिए गए हैं.

इकनॉमिक टाइम्स की खबर के मुताबिक सभी राज्यों को मंथली टारगेट दिए गए हैं. उत्तर प्रदेश को हर महीने 14 लाख मवेशियों पर टैग लगाने हैं, जबकि मध्य प्रदेश के लिए यह टारगेट 7.5 लाख है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आदेश पर शुरू हो रही इस योजना का मकसद पशुओं पर नजर रखना हैं.जिससे उनकी दवाएं, टीकाकरण वक्त-वक्त पर किया जा सकेगा.

गौरतलब रहें कि देश में लगभग 8.8 करोड़ मवेशी हैं. इनमें 4.1 करोड़ भैंस और 4.7 करोड़ गाय शामिल हैं. 1.6 करोड़ मवेशियों के साथ उत्तर प्रदेश देश में पहले स्थान पर है. वहीं दूसरे नंबर पर मध्य प्रदेश व तीसरे नंबर पर राजस्थान आता है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें