phpthumb_generated_thumbnail

मुंबई | उत्तराखंड सरकार ने जब मुस्लिम कर्मचारियों को जुमे की नमाज पढने के लिए 90 मिनट की छुट्टी देना का फैसला किया तो इसकी आशंका काफी ज्यादा थी की इस तरह की मांग बाकी राज्यों में भी उठ सकती है. यह आशंका अब सच साबित होती दिख रही है क्योकि मुबंई में भी इसी तरह की मांग उठी है. हालाँकि महाराष्ट्र सरकार ने इस मांग को ठुकरा दिया है.

मुंबई में समाजवादी पार्टी के नेता अबू आजमी ने महाराष्ट्र सरकार से मांग की है की महाराष्ट्र में भी मुस्लिम कर्मचारियों को जुमे की नमाज पढने के लिए 90 मिनट की छुट्टी दी जाए. अबू आजमी ने कहा की मुंबई में एक बड़ी मुस्लिम संख्या ऑफिस में काम करती है. शुक्रवार को जुमे की नमाज पढने के लिए सभी मुस्लिम कर्मचारियों को 90 मिनट का ब्रेक मिलना चाहिए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अबू आजमी ने इस बार में तर्क देते हुए कहा की मुस्लिमो के लिए नमाज से बढ़कर कुछ नही है. यह हमारे लिए सबसे जरुरी है. अगर हमें जुमे की नमाज पढने के लिए समय नही मिलता तो ऊपर जाकर हम क्या जवाब देंगे. आजमी ने अपनी मांग से सम्बंधित एक पत्र मुख्यमंत्री के पास भेजा है. उधर अबू अजमी की मांग पर बीजेपी और शिवसेना ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है.

शिवसेना प्रवक्ता मनीष कायंदे ने कहा की धर्मनिरपेक्ष देश में इस तरह की मांग को नही माना जा सकता. सरकार यह मांग नही मानेगी. उधर बीजेपी प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने कहा की अगर ऐसे ही सब छुट्ठी मांगने लगे तो काम कौन करेगा. आज मुस्लिमो को छुट्ठी चाहिए कल हिन्दू मंगलवार को हनुमान की पूजा के लिए और शुक्रवार को संतोषी माँ की पूजा के लिए दो घंटे की छुट्टी की मांग करेंगे.

Loading...