Monday, January 24, 2022

मोदी-शाह पर टिप्पणी को लेकर इतिहासकार इरफान हबीब को भेजा नोटिस

- Advertisement -

नई दिल्ली। अलीगढ़ सिविल कोर्ट के अधिवक्ता ने मंगलवार को इतिहासकार इरफान हबीब को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व गृहमंत्री अमित शाह के खिलाफ टिप्पणी करने को लेकर नोटिस भेजा है।

मंगलवार को अधिवक्ता संदीप चाणक्य ने इरफान हबीब को नोटिस भेजा है। उन्हें सात दिनों के भीतर जवाब देने की बात कहते हुए न्यायालय में वाद दायर करने की चेतावनी भी दी है। इरफान ने कहा कि ऐसे पत्र मिलते रहते हैं, पत्र मिलने के बाद तय करूंगा कि जवाब देना है या नहीं।

बता दें कि इतिहासकार ने सोमवार को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में एक स्पीच दी थी। वकील संदीप कुमार गुप्ता ने नोटिस में कहा है कि हबीब का एएमयू में सोमवार को दिया भाषण ‘भारत की एकता और विविधता के खिलाफ था और यह इसकी संप्रभुता को भी चुनौती देता है।’

इरफान हबीब के भाषण का जिक्र करते हुए गुप्ता ने नोटिस में लिखा है, ‘आपने अमित शाह को सलाह दी कि वह अपने नाम से शाह हटा लें क्योंकि यह फारसी शब्द है। आपने कहा कि आरएसएस की स्थापना मुस्लिमों पर हमले के लिए हुई थी। आपने हिंदुत्व विचारक वीर सावरकर को देश के बंटवारे के लिए जिम्मेदार बताया जबकि तथ्य यह है कि टू-नेशन थिअरी जिन्ना की देन थी। आपने सरकार के स्वच्छता अभियान में गांधी के चश्मे के इस्तेमाल का मजाक उड़ाया।’

नोटिस में वकील ने कहा है कि उन्होंने तमाम अखबारों में हबीब के ‘जहरीले बयानों’ को पढ़ा है। उन्होंने हबीब से 7 दिनों के भीतर जवाब देने और माफी मांगने की मांग की है। नोटिस में कहा गया है कि अगर हबीब ऐसा नहीं करते हैं तो उनके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles