supr

सुप्रीम कोर्ट नोटबंदी से जुडी याचिका पर सुनवाई करते हुए केंद्र सरकार से कई कड़े सवाल किये हैं.  सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से पूछा कि जब देश के लोगों को 2 हज़ार नहीं मिल पा रहे तो कुछ लोगों के पास करोड़ों कहां से आ रहे हैं?

कोर्ट ने पूछा कि कुछ लोगों के पास लाखों के नए नोट कहां से आ रहे हैं? बैंकों को नई करंसी देने पर सरकार की क्या नीति है? सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि लोगों को एक हफ्ते में 24000 रुपए भी नहीं मिल रहे हैं. साथ ही अस्पतालों में पुराने नोटों की मंजूरी क्यों नहीं दी जा रही है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

कोर्ट के सवालों के जवाब में अटर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने कहा कि अगले कुछ दिनों में हालात ठीक हो जाएंगे. उन्होंने कहा कि कुछ बैंक मैनेजर गड़बड़ी कर रहे हैं. सरकार दोषियों पर कार्रवाई कर रही है.

अटर्नी जनरल ने कोर्ट को बताया कि अब तक 5 लाख करोड़ की नई करंसी बाजार में उतारी जा चुकी है. अस्पतालों में पुराने नोटों के चलने के सवाल पर सरकार ने कहा कि इसका फैसला कोर्ट करेगा.

नोटबंदी पर इससे पहले सुनवाई में सरकार की ओर से कहा गया था कि केंद्र सरकार इस मामले पर पूरी तरह निगरानी रख रही है. नोटबंदी को लेकर हालात किसी तरह बिगड़े नहीं हैं. यहां तक कि कोई दूधवाला या किसान इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट नहीं आया है. ये सब मामला राजनीति से प्रेरित है.

Loading...