प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा नोटबंदी के एतिहासिक कदम को एक साल पूरा होने को है. लेकिन अब तक भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के पास वापस आए अमान्य नोटों की गिनती नहीं हो पाई है.

आरटीआई के तहत पूछे गए एक सवाल के जवाब में आरबीआई ने जानकारी दी है कि नोटबंदी के बाद वापस आए नोटों की गिनती एवं जांच का काम पूरा नहीं हो सका है. आरबीआई के अनुसार, 30 सितंबर तक 500 रुपए के लगभग 1,134 करोड़ नोटों की और 1,000 रुपए के 524.90 करोड़ नोटों को प्रोसेस्‍ड किये जा सके है.

बैंक ने बताया कि इन नोटों का मूल्य क्रमश: 5.67 लाख करोड़ रुपये और 5.24 लाख करोड़ रुपये है. 30 सितंबर तक कुल 10.91 लाख करोड़ रुपये मूल्य के पुराने नोटों की जांच हो चुकी थी. रिजर्व बैंक ने बताया कि उपलब्ध मशीनों पर दो शिफ्ट में नोटों को तेजी से जांचने का काम हो रहा है. आरबीआई ने कहा, ‘चलन से बाहर हुए नोटों के सत्यापन की प्रक्रिया लगातार जारी है, इसके लिए सभी मशीनों से डबल शिफ्ट में काम किया जा रहा है.

ध्यान रहे 30 अगस्‍त को 2016-17 के लिए जारी अपनी सालाना रिपोर्ट में आरबीआई ने कहा था कि बैन हुए नोटों का 99 फीसदी यानी 15.28 लाख करोड़ नोट बैंकिंग सिस्‍टम में वापस आ चुके हैं. 15.44 लाख करोड़ में से केवल 16,050 करोड़ नोट वापस नहीं आए हैं.

8 नवंबर 2016 तक देश में 500 रुपए के 1,716.5 करोड़ नोट और 1000 रुपए के 685.8 करोड़ नोट चलन में थे, जिनकी कुल वैल्‍यू 15.44 लाख करोड़ रुपए थी. आरबीआई ने 30 जून, 2017 तक के लिए पेश की गई अपनी रिपोर्ट में कहा था कि प्राप्‍त हुए नोटों की 30 जून तक कुल वैल्‍यू 15.28 लाख करोड़ रुपए थी.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?