gad

8 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा लिए गए नोटबंदी के फैसले के बाद देश की आम जनता को शादियों के लिए बैंकों से 2.5 लाख रूपये भी नहीं मिल रहे हैं. लेकिन नेताओं के यहाँ शादियों पर करोड़ो खर्च किये जा रहे हैं. हाल ही में केंद्र सरकार ने बैंको को आदेश दिया हैं कि जिनके घर शादी है उनके शादी के कार्ड, होटल और कैटरर बुकिंग की रसीदों को देखकर 2.50 लाख रुपये की नई करेंसी दे दी जाए.

ऐसे में सरकार द्वारा शादियों का खर्च 2.50 लाख रुपये निश्चित किया हुआ हैं. फिर भी केंद्र में सत्ताधारी दल के नेताओं के यहाँ शादियों पर नोटबंदी का कोई असर नजर नहीं आ रहा हैं. हाल ही में 16 नवंबर को कर्नाटक के दिग्गज बीजेपी नेता और माइनिंग कारोबारी गली जनार्धन रेड्डी ने अपनी बेटी की शादी में 500 करोड़ रुपये से ज्यादा का खर्च किया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसी तरह पार्टी के सीनियर लीडर और केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी की बेटी की शादी 4 दिसंबर को नागपुर में आयोजित हुई. देशभर से 10,000 मेहमानों को निमंत्रण गया. शहर के सबसे वीआईपी बैंक्वेट हॉल को बुक कर सजाया गया. पार्टी के दिग्गज मंत्री, नेता और देश के बड़े उद्योगपतियों के साथ-साथ बॉलिवुड हस्तियों ने भी शिरकत की.

ऐसे में सवाल उठता हैं कि इन नेताओं के पास इतना पैसा कहाँ से आया जब सरकार ने बैंकों से शादियों के खर्च की अधिकतम सीमा भी 2.5 लाख रु तय की हुई हैं?

Loading...