विवादों में रहने वाले भारतीय सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज और प्रेस काउंसिल ऑफ़ इंडिया (पीसीआई) के पूर्व चेयरमैन जस्टिस मार्कंडेय काटजू ने महात्मा गाँधी को राष्ट्रपिता मानने से इनकार किया हैं. उन्होंने गाँधी को अंग्रेजों का एजेंट करार दिया.

जस्टिस काटजू ने ट्वीट कर कहा कि महात्मा गाँधी राष्ट्रपिता नहीं बल्कि सामंती मानसिकता रखने वाले एक पाखंडी थे. इसके साथ ही उन्होंने गाँधी को अंग्रेजों का एजेंट भी बताया.

इसी ट्वीट में उन्होंने मुग़ल बादशाह अकबर को राष्ट्रपिता बताया. जस्टिस काटजू भी साफ़ तौर पर महात्मा गांधी को ब्रिटिश एजेंट बता चुके हैं. साथ ही उन्होंने सुभाष चंद्र बोस को भी जापानी एजेंट बताया था.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?