नई दिल्ली। कोरोनावायरस संक्रमण को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि हम स्थानीय स्तर पर इसके प्रसार होने के चरण में पहुंच गए हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा घोषित किए गए 21 दिन के लॉकडाउन के दौरान लोगों द्वारा उल्लंघन करने के मामले लगातार सामने आ रहे हैं।

जिससे देश में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या और इससे होने वाली मौ’तों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। कहा जा रहा है कि ऐसी स्थिति में 21 दिन का लॉकडाउन नाकाफी साबित हो सकता है। हालांकि यह अगर तीसरे चरण में पहुंचता है तो स्थिति बहुत भयावह हो सकती है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के ज्वाइंट सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने कहा कि देश में लॉकडाउन का असर दिखा है। कोरोना वायरस संक्रमण के अब तक 1071 मामले सामने हैं और 29 लोगों की मौ’त हुई हैं। उन्होंने कहा कि 24 घंटे में 92 नए मामले आए. हमारे देश में 100 से 1000 केस तक पहुंचने में 12 दिन लगे। विकसित देशों में इतने दिनों में 3500, 5000, 8000 तक केस आए हैं।

अग्रवाल ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण रोकने के लिए समाज के हर व्यक्ति का सहयोग चाहिए। अगर एक भी व्यक्ति छूटता है, सहयोग नहीं करता है तो जीरो पर आ जाएंगे। गाइड लाइन पर 100 प्रतिशत अमल हो। यदि 99 फीसदी हुआ तो सब बेकार हो जाएगा। सौ फीसदी एफर्ट की ज़रूरत है।

लव अग्रवाल ने कहा कि सरकारी डाक्यूमेंट में अगर हम कम्युनिटी लिख देते हैं तो लोग अलग तरीके से लेने लगते हैं। अभी हमारा देश लोकल ट्रांसमिशन की स्टेज में है। जो फिगर आ रहे हैं, बता रहे हैं कि हमारी दिशा ठीक है और इसी को बरकरार रखने की कोशिश होनी चाहिए।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन