लोकसभा में विपक्ष द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव के दौरान मॉब लिंचिंग के मुद्दे पर घिरे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ऐसी घटनाओं को स्वीकार नहीं किया जा सकता और राज्य सरकारें ऐसे मामलों में कड़ी कार्रवाई करें। उन्होंने कहा कि मॉब लिंचिंग की हिंसा से हुई किसी भी व्यक्ति की मौत दुर्भाग्यपूर्ण है।

लोकसभा में सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए मोदी ने कहा, ‘हाल के समय में हिंसा की घटनाएं हुई हैं। ये घटनाएं दुखद हैं और मानवता के मूल सिद्धांत के विरूद्ध हैं। राज्य सरकारें कदम उठा रही हैं। मैं राज्य सरकारों से एक बार फिर कहना चाहता हूं कि इस तरह के मामलों में कड़ी कार्रवाई की जाए।’

हालांकि कथित गौरक्षकों पर प्रधानमंत्री के इस बयान का कोई असर नहीं हुआ है। बीजेपी शासित राजस्थान के अलवर में शुक्रवार रात को अकबर नामक की बुजुर्ग की गौरक्षकों ने पीट-पीट कर हत्या कर दी है।

बता दें कि मृतक अकबर उर्फ़ रकबर पुत्र सुलेमान अपने साथी के साथ गायों को लेकर लालामंडी रामगढ़ से पैदल जा रहे थे। तभी रास्ते में कथित गौ रक्षकों के साथ ग्रामीणों ने उनकी पिटाई कर दी। इस दौरान अकबर का एक साथी तो भाग निकला, लेकिन अकबर भीड़ के हत्थे चढ़ गया। सूचना के बाद पुलिस ने अकबर को अस्पताल में भर्ती कराया था, जहां उसकी मौत हो गई।

अलवर के एएसपी अनिल बेनिवाल ने कहा है कि अभी तक ये स्पष्ट नहीं हो पाया है कि वे गाय स्मगलर थे या नहीं। पुलिस का कहना है कि वे आरोपियों की पहचान की कोशिश कर रहे हैं, और इस मामले में तुरंत गिरफ्तारी की जाएगी।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano