आतंकी की घटनाओं को लेकर एक बार फिर से पाकिस्तान को चेताते हुए सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा कि जरूरत पड़ने पर सीमा पार सर्जिकल स्ट्राइक के जरिए आतंकी शिविरों को नष्ट किया जा सकता है.

रावत ने बताया कि सीमापार से घुसपैठ जारी रहेगी क्योंकि नियंत्रण रेखा के पार स्थित वे शिविर अभी भी सक्रिय हैं जहां से आतंकवादी भेजे जाते हैं. वे अब बड़े हमले को अंजाम देने की फिराक में है.

उन्होने कहा, ‘‘सर्जिकल स्ट्राइक एक संदेश था, जो हम उन्हें देना चाहते थे और वे वह समझ गए हैं जो हमारा मतलब था कि चीजें जरूरत पड़ने पर दोहराई जा सकती हैं.

मालूम हो कि पिछले साल उरी में सेना कैंप पर पाकिस्तानी आतंकियों के हमले के बाद भारत की ओर से सर्जिकल स्ट्राइक की गई थी. इसमें भारतीय सेना ने सीमा पार आतंकियों के कैंपों को तबाह कर दिया था. साथ ही कई आतंकियों को ढेर कर दिया था.

जनरल रावत ने कहा कि सरहद के उस पार जो आतंकवादी हैं, वो तैयार बैठे हैं. हम भी उनके लिए इस तरफ तैयार बैठे हैं. उन्होंने कहा, वो आतंकवादी इधर आएंगे और हम उन्हें रिसीव करके, ढाई फुट जमीन के नीचे भेजते रहेंगे.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?