Saturday, October 23, 2021

 

 

 

आंद्रप्रदेश सरकार का अजीब फ़रमान, नए साल पर मंदिरो में नही होगा कोई जश्न

- Advertisement -
- Advertisement -

tirupati

हैदराबाद । नया साल आने में बस कुछ दिन शेष है। पूरी दुनिया इस दिन का इंतज़ार कर रही है। 31 दिसम्बर की रात को दुनियाभर में जश्न शुरू हो जाएगा। लोग उत्सव मनाकर नए साल का स्वागत करेंगे। लेकिन आंद्रप्रदेश के मंदिर ऐसा नही कर पाएँगे। क्योंकि राज्य सरकार ने सभी मंदिरो के लिए बेहद ही अजीब फ़रमान जारी किया है। फ़रमान के अनुसार कोई भी मंदिर, उत्सव मनाकर नए साल का स्वागत नही करेगा।

शुक्रवार को राज्य सरकार की और से सभी मंदिरो को नोटिस जारी कर यह आदेश दिया गया। नोटिस में कहा गया कि नए वर्ष की पूर्व संध्या पर मंदिरो में फूलो की सजावट नही होगी। सभी मंदिर इससे दूर रहे और नए वर्ष का उत्सव न मनाए। इसके पीछे कि वजह भी नोटिस में बताइ गयी है। इसमें लिखा है की यह पश्चिमी सभ्यता से जुड़ा हुआ जश्न है और हिंदू संस्कृति का हिस्सा नही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार आंध्र प्रदेश सरकार के एंडॉमेंट्स विभाग ने इस आदेश को जारी किया है। आंध्र प्रदेश के निधि विभाग का अंग माने जाने वाले हिंदू धर्म परिरक्षण ट्रस्ट (एचडीपीटी) ने एक सर्कुलर में कहा, ‘हिंदू संस्कृति के मुताबिक, उगाडी तेलुगू लोगों के लिए नया वर्ष होता है और लोगों को उस दिन मंदिरों में पूजा करनी चाहिए, कार्यक्रमों का आयोजन करना चाहिए।’

अपने आप में यह पहला सर्क्यलर है जिसमें नए साल का जश्न न मनाने का आदेश दिया गया है। आज़ाद भारत के इतिहास में किसी भी राज्य सरकार की और से ऐसा सर्क्यलर जारी नही किया गया। लेकिन पीछले कुछ समय से देश के अंदर राष्ट्रवाद और हिंदुत्व को लेकर एक नया माहौल तैयार किया जा रहा है। हम पश्चिमी सभ्यता के अनुसार बहुत सारे काम कर सकते है लेकिन नया साल नही मना सकते।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles