बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौट के आरोपों के बीच केंद्र सरकार (Central Government) ने मंगलवार को कहा कि मादक पदार्थ नियंत्रण ब्यूरो (NCB) को कार्रवाई करने योग्य ऐसी कोई जानकारी नहीं मिली है जिसमें फिल्म उद्योग के लोगों और नशीले पदार्थों के तस्करों के बीच कथित सांठगांठ का खुलासा होता हो।

दरअसल, लोकसभा में यह सवाल पूछा गया था कि क्या सरकार ने फिल्म उद्योग के लोगों और मादक पदार्थों के कारोबार में शामिल लोगों के बीच मिलीभगत के मामले में विस्तृत जांच की है? इस सवाल के जवाब में जी. किशन रेड्डी ने बताया कि एनसीबी ने कई सूत्रों से जानकारी ली है, कई जगहों की तलाशी ली गई है, गिरफ्तारी और जांच भी की गई है।

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री ने बताया कि कोविड – 19 के दौरान लॉकडाउन के समय हुई जांच में एनसीबी को फिल्म और ड्रग पैडलर्स के बीच मिली भगत का कोई सबूत नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि एनसीबी टीम ने 28 अगस्त 2020 को मामला दर्ज़ कर अबतक 10 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से गांजा, टेट्रा हाइड्रो कैनिबनोल, हशीश आदि मिले हैं।

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत की हत्या के सामने आने के बाद उनकी गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती पर सुशांत को ड्रग्स देने का आरोप लगा था। इस मामले में एनसीबी की टीम ने हाल ही में रिया चक्रवर्ती को गिरफ्तार किया था। इसी बीच एक्‍ट्रेस कंगना रनौत ने कहा था कि अगर नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने फिल्म उद्योग की जांच की तो कई प्रमुख अभिनेताओं को सलाखों के पीछे किया जाएगा।

वहीं दो दिन पहले ही संसद में इस मामले को उठाते हुए बीजेपी सांसद रवि किशन ने कहा था कि बॉलीवुड भी ड्रग्स का शिकार है। उन्होंने यह भी कहा था कि इससे देश के युवाओं का भविष्य ख़तरे में है। इसके पीछे उन्होंने चीन और पाकिस्तान का हाथ होने की भी बात कही थी।

Loading...
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano
विज्ञापन