nizaa

बीते दिनों तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में विवार की रात पुरानी हवेली स्थित निजाम संग्रहालय से 2 किलो वजन का सोने का टिफिन बॉक्स, जवाहरात जड़ा कप, हीरा और पन्ना सहित कई ऐतिहासिक और बेशकीमती वस्तुएं चोरी हो गई थी। जो मिल चुकी है।

हैदराबाद टास्क फोर्स ने मुंबई से हीरा जड़ा सोने का टिफिन बॉक्स और सोने का टी कप बरामद कर लिया है। पुलिस ने दो चोरो को गिरफ्तार किया है। हैदराबाद पुलिस ने चोरों को पकड़ने के लिए 10 टीमों का गठन किया था। अंतरराष्‍ट्रीय नीलामी में इन बहुमूल्य वस्तुओं की कीमत करीब 50 करोड़ रुपये आंकी गई है। तीन स्‍तरीय गोल्‍ड टिफिन बॉक्‍स का वजन 2 किलोग्राम है और इसमें हीरे तथा रुबी जड़े हुए हैं।

बता दें कि ये पुरा महत्व की वस्तुएं सातवें निजाम की थीं। बताया जा रहा है कि टिफिन बॉक्‍स और कप बेशकीमती था और इसका इस्‍तेमाल हैदराबाद के अंतिम निजाम मीर उस्‍मान अली खान, असफ जाह सप्‍तम ने किया था। इस म्‍यूजियम में वर्तमान समय में 450 सामान प्रदर्शित किए गए हैं जिसमें से कई सातवें निजाम और मीर महबूब अली खान के हैं। इन सामानों की अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में कीमत 250 से 500 करोड़ रुपये के बीच है।

nizam

शहर के इतिहासकार और जाने-माने मुद्राशास्त्री डॉ. मोहम्मद सैफुल्लाह ने कहा कि 1986 में जब सोने की मोहर स्विट्जरलैंड में नीलामी के लिए रखी गई थी तो उसकी शुरुआती कीमत 83 लाख यूएस डॉलर आंकी गई थी।

उन्होंने कहा, ‘उस समय इसकी नीलामी नहीं हो पाई थी और उसके बाद इसे किसी ने नहीं देखा। ऐसी प्राचीन विरासतों के क्रेज को देखते हुए इन चीजों की कीमत हर दो सालों में दो से चार गुनी हो जाती है। उस मोहर का वजन 11.193 किलोग्राम था और वह दुनिया का सबसे बड़ा सोने का सिक्का था।’ आज के हिसाब से उस मोहर की कीमत 8 हजार करोड़ रुपये आंकी गई है।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें