बीजेपी के खिलाफ विपक्ष ने एकजुट होने की तैयारी कर ली हैं. राष्ट्रपति चुनाव के नजदीक आते ही महागठबंधन बनाने पर जोर दिया जा रहा हैं. ऐसे में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अहम भूमिका मिल सकती हैं. कहा जा रहा है कि महागठबंधन की अध्यक्ष कांग्रेस उपाध्यक्ष सोनिया गाँधी होंगी तो संयोजक नीतीश कुमार होंगे.

याद रहे पहले ही सोनिया गांधी ने राष्ट्रपति पद के लिए विपक्ष के संयुक्त उम्मीदवार के लिए विपक्ष का नेतृत्व कर रही हैं और उन्होंने कई नेताओं के साथ हाल ही में बैठकें की हैं. शरद पवार ने गांधी के आवास पर आधे घंटे तक बातचीत की. तो वहीँ सोनिया ने वरिष्ठ कम्युनिस्ट नेताओं को भी साथ मिलाने के लिए बातचीत शुरू कर दी है.

सोनिया अब तृणमूल कांग्रेस प्रमुख व पश्चिमी बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, डी.एम.के. नेता करुणानिधि-स्टालिन, एन.सी. प्रमुख फारूक अब्दुल्ला व कई अन्य नेताओं के साथ भी आने वाले दिनों में बातचीत करने जा रही हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

कांग्रेस अब तक उड़ीसा में नवीन पटनायक की पार्टी बी.जे.डी. से बातचीत करने से कतराती रही है परन्तु आने वाले दिनों में उनसे भी बातचीत हो सकती है. इसी तरह से आंध्र प्रदेश में वाई.एस.आर. कांगे्रस के प्रमुख जगनमोहन रैड्डी को भी साथ मिलाने की कोशिशें शुरू हो गई हैं.