सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री गडकरी ने कहा कि देश में हर दिन सड़क दुर्घटनाओं में 415 लोगों की मौत हो जाती है। उन्होंने कहा कि लोगों की जान बचाने के काम में तेजी लाने की जरूरत है।

विज्ञान भवन में राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह के उद्घाटन समारोह का शुभारंभ करने के बाद गडकरी ने कहा कि यदि हम 2030 तक राह देखते रहेंगे, तो लगभग 6-7 लाख लोग इस वजह से मर जाएंगे। 2025 तक हम आपके सहयोग से सड़क हादसे से होने वाली मौतें और दुर्घटनाएं 50 फीसद से नीचे कर पाएंगे।

नितिन गडकरी ने कहा कि हमारी इच्छा पिछड़े क्षेत्रों में ड्राइविंग स्कूल खोलने की है। इससे 22 लाख लोगों को रोज़गार मिल सकेगा। ठीक से ट्रेनिंग देंगे तो लोगों की जान बचेगी। पिछड़े और आदिवासी क्षेत्रों में कौशल विकास मंत्रालय और हमारा मंत्रालय मिलकर ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल का कार्य कर रहे हैं।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सरकार सड़क पर दुर्घटना संभावित क्षेत्र की पहचान करने और इसके समाधान के लिए 14,000 करोड़ रुपये खर्च करेगी। उन्होने बताया, ‘‘विश्व बैंक और एशियाई विकास बैंक ने सात-सात हजार करोड़ रुपये की दो परियोजनाओं को मंजूरी दे दी है। वित्त मंत्रालय से भी जल्द मंजूरी मिलने की उम्मीद है। हम दुर्घटना संभावित क्षेत्रों की पहचान के लिए 14,000 करोड़ रुपये खर्च करेंगे।’’

गडकरी ने कहा, ‘‘अब तक हम सड़क निर्माण का रिकॉर्ड तोड़ चुके हैं। आज हमने (प्रतिदिन) 30 किलोमीटर से ज्यादा सड़क निर्माण का लक्ष्य हासिल कर लिया है, हम प्रतिदिन 40 किलोमीटर सड़क निर्माण का लक्ष्य हासिल करेंगे।’’