मेरठ: निर्भया गैंगरे’प के दोषियों (Convicts) को फांसी देने की तैयारी शुरू हो चुकी है। जानकारी के मुताबिक, 16 दिसंबर को सभी को फांसी दी जा सकती है। जिस जगह पर फांसी देनी है, वहां साफ़-सफाई का काम भी शुरू हो गया है।

खबर यह भी है कि मामले के दोषी पवन को मंडोली जेल से तिहाड़ शिफ्ट किया गया है। एक दोषी विनय शर्मा ने बीते दिनों राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पास दाखिल दया याचिका को गृह मंत्रालय से नामंजूर करने की सिफारिश की है।

वहीं सूत्रों का कहना है कि फांसी की तारीख लगभग तय है। तिहाड़ प्रशासन को सिर्फ जल्लाद मिलने की तलाश है। दरअसल, तिहाड़ में बंद दोषियों को फांसी के लिए अधिकारियों को जल्लाद नहीं मिल रहा है।

इसके अलावा बिहार की बक्सर जेल को इस सप्ताह के अंत तक फांसी के दस फंदे तैयार रखने का निर्देश दिया गया है। बक्सर जेल अधीक्षक विजय कुमार अरोड़ा ने  बताया, “हमें पिछले सप्ताह जेल निदेशालय से 14 दिसंबर तक 10 फांसी का फंदा तैयार करने के निर्देश मिले थे। हमें नहीं पता कि ये कहां इस्तेमाल होने जा रहे हैं।”

उन्होंने कहा, ””संसद हमले के मामले में अफजल गुरु को मौत की सजा देने के लिए इस जेल में तैयार किए गए फांसी के फंदे का इस्तेमाल किया गया था। 2016-17 में हमें पटियाला जेल से आदेश मिले थे, हालांकि हम यह नहीं जानते कि किस उद्देश्य के लिए वे फंदे तैयार कराए गए थे।”

गौरतलब है कि निर्भया गैंगरेप मामले में छह दोषियों में से एक की जेल में मौत हो चुकी है, जबकि एक नाबालिग दोषी सजा काटकर जेल से बाहर आ चुका है। बचे चार दोषियों की ओर से लगाई जा रही अड़चनों से आगे की कार्रवाई नहीं की जा सकी है। उम्मीद है कि गृह मंत्रालय की सिफारिश के बाद राष्ट्रपति जल्द ही दया याचिका पर फैसला लेंगे

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन