राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने विवादास्पद सलाफी प्रचारक जाकिर नाइक के खिलाफ समन जारी कर उन्हें 14 मार्च को हाजिर होने का आदेश दिया हैं. ये समन आतंक रोधी कानून के तहत जारी किया गया हैं.

एनआईए के एक अधिकारी ने यहां कहा कि प्रतिबंधित इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन (आईआरएफ) के संस्थापक नाईक से कहा गया है कि आतंकवाद निरोधक एजेंसी के दिल्ली स्थित मुख्यालय में 14 मार्च को पेश हो. उन्होंने बताया कि उसके भाई मोहम्मद अब्दुल करीम नाईक ने यहां मझगांव के जैसमीन अपार्टमेंट में नोटिस प्राप्त किया.

इसके अलावा नाइक की बहन नैला नूरानी ने मामले के जांच अधिकारी (आईओ) से एजेंसी के कार्यालय में मुलाकात की. इस दौरान धन शोधन निरोधक अधिनियम (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत उनका बयान दर्ज किया गया. उन्होंने कहा कि एजेंसी नूरानी से उनके खाते और उनसे जुड़े फर्म में कथित तौर पर धन के लेन-देन के बारे में पूछताछ करना चाहती थी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

एजेंसी ने पिछले साल नवंबर में नाइक और उसके सहयोगियों के खिलाफ गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम कानून के तहत मामला दर्ज किया था. केंद्र ने दक्षिण मुंबई के डोंगरी में गैर सरकारी संगठन आईआरएफ को यूएपीए के तहत अवैध संगठन घोषित कर रखा है. नाइक की संस्था इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन को पहले ही प्रतिबंधित किया जा चुका है.

Loading...