राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने बच्चा चोर होने के संदेह में झारखंड में भीड़ द्वारा सात व्यक्तियों की कथित तौर पर पीट पीटकर हत्या करने की घटना के बारे में स्वत: संज्ञान लेकर झारखंड के पुलिस महानिदेशक डीके पांडेय को नोटिस जारी किया हैं.

याद रहे पिछले सप्ताह जमशेदपुर के बागबेड़ा व सरायकेला के राजनगर थाना क्षेत्र में भीड़ ने अलग-अलग मामले में आठ लोगों की बच्चा चोर होने के संदेह में पीट-पीट कर हत्या कर दी थी. आयोग ने इस नोटिस का जवाब 4 हफ्तों के भीतर मांगा है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

स घटना पर मानवाधिकार आयोग ने गंभीर चिंता जताते हुए कहा कि एक सभ्य समाज इस तरह के घृणित अपराधों को कभी भी सहमति नहीं दे सकता है जहां सिर्फ शक के आधार पर भीड़ द्वारा लोगों की हत्या कर दी जाती है. साथ ही आयोग ने झारखंड पुलिस से उन उपायों, प्रस्तावित उपायों को पूछा है जो राज्य सरकार लागू करने वाली है ताकि इस तरह की घटनाएं फिर से ना हो पाये.

आयोग ने कहा है कि भीड़ द्वारा लोगों को मारे जाने की खबरें बेहद चिंताजनक है और राज्य सरकार को इस मामले में जल्द से जल्द कार्रवाई करनी चाहिए.

Loading...