shujaat bukhari 2018062519320566 650x

वरिष्ठ पत्रकार और राइजिंग कश्मीर अखबार के एडिटर शुजात बुखारी की हत्या के मामले में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने जम्मू और कश्मीर सरकार को एक नोटिस जारी किया है।

इस नोटिस मे एनएचआरसी ने जम्मू और कश्मीर सरकार से पत्रकार और उनके सुरक्षाकर्मी की हत्या के मामले में विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। आयोग ने सरकार से राज्य में पत्रकारों की सुरक्षा के लिए उठाए गए कदमों की भी रिपोर्ट मांगी है।

बता दें कि 14 जून को अज्ञात हमलावरों ने शुजात बुखारी की गोली मारकर हत्‍या कर दी थी। वह लाल चौक पर प्रेस एनक्‍लेव में इफ्तार पार्टी के बाद दफ्तर से जा रहे थे। तभी उन्हे गोली मारी गई थी।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस हमले मे उनके ड्राइवर और उनके पीएसओ भी घायल हुए थे। इसके बाद सभी को अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। इसके अलावा इस हमले में एक अन्य पुलिसकर्मी और एक आम नागरिक भी घायल हुए थे। जिनमें से एक की मौत हो गई थी।

बुखारी लगभग एक दशक से श्रीनगर से अपना अखबार चला रहे थे। उनके पिता भी पत्रकार थे। महबूबा सरकार में उनके भाई सैयद बशरत बुखारी कश्‍मीर के कानून मंत्री हैं। वह मानवाधिकारों के हनन पर खुलकर लिखते थे।

Loading...