मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ जिले में अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे किसानों को कपडे उतरा कर पुलिस द्वारा पीटे जाने के मामले में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने संज्ञान लिया है.

समाचार एंजेसी आईएएनएस की रिपोर्ट के मुताबिक, आयोग ने इस मामले में राज्य के मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक को नोटिस जारी कर चार सप्ताह में जवाब मांगा है.

आयोग ने कहा है कि मीडिया में टिकमगढ़ में किसानों के उत्पीड़न को लेकर जो रिपोर्ट आईं हैं अगर वे सही हैं तो यह किसानों के मानवाधिकारों का हनन है. लिहाजा, राज्य के मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक चार सप्ताह में इस मामले की रिपोर्ट पेश करें.

ध्यान रहे मंगलवार को जिला मुख्यालय कलेक्टर अभिजीत अग्रवाल को ज्ञापन देने पहुंचे किसानो को पुलिस ने पीटा था. साथ ही प्रदर्शन के बाद अपने गावों को लौट रहे किसानों को रास्ते में रोक उन्हें देहात थाने लाकर उनकी कपडे उतारकर पिटाई की गई थी.

हालाँकि मध्यप्रदेश पुलिस ने मारपीट की ख़बरों को खारिज किया है. साथ कपडे उतराने को लेकर कहा कि किसान फांसी लगाकर आत्महत्या न कर ले इस लिए उनके कपडे उतराए थे.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?