नई दिल्ली: भारत के सबसे बड़े छात्रों और युवाओ के सगठन मुस्लिम स्टूडेंट्स ओर्गेनाइजेशन ऑफ इंडिया ने इस्लाम और पैग़ंबर के खिलाफ़ दिल्ली के प्रैस क्लब मे नरसिंहा आनंद सरस्वती और उसके साथियो द्वारा की गयी अपमान जनक टिप्पणी पर सख़्त नाराजगी ज़ाहिर की है, और दिल्ली पुलिस से मांग की है दोषियो को फौरन गिरफ़्तार करके जेल भेजे।

सगठन के दिल्ली प्रदेश उपाध्यक्ष मुदस्सर अशरफी ने कहा कि प्रेस क्लब ऑफ इंडिया में हुई एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान एक भगवा संत ने इस्लाम और पैगंबर ए इस्लाम के खिलाफ अभद्र बातें कहीं, जिसपर हिंदुस्तान के मुसलमानों में बहुत ही गुस्सा और नाराज़गी है।

अशरफ़ी ने सख़्त नाराज़गी जताते हुए कहा कि इस्लाम और पैगंबर ए इस्लाम का अपमान किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जायेगा, धर्मगुरुओं के वेश में छिपे ये आतंकी मुल्क भर में बड़े पैमाने पर दंगे भड़काने और समाज को तोड़ने की साजिश कर रहे हैं। उन्होने कहा कि इस प्रकार के आतंक और हिंसा फैलाने वालों के लिए भारतीय समाज में कोई जगह नहीं है और उसकी जगह भारतीय सविंधान के अनुसार सिर्फ जेल है | सरकार को इस व्यक्ति को तुरंत गिरफ्तारी करना चाहिए।

अशरफ़ी ने कहा कि जब दिल्ली सहित देश के कई हिस्सो मे नरसिंघा नन्द पर एफ़आईआर दर्ज़ हो चुकी है तो क्या कारण है कि दिल्ली पुलिस उसे गिरफ़्तार नहीं कर रही है? क्या उसे राजनीतिक दबाव के तहत बचाया जा रहा है? दिल्ली पुलिस को स्पष्ट करना चाहिए। उन्होने कहा कि जल्द ही एमएसओ का एक प्रतिनिधि मण्डल संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष के नेतृत्व मे दिल्ली के उप राज्यपाल से मुलाक़ात करेगा और जल्द कार्यवाई की मांग करेगा।