मुंबई: सुन्नी मुस्लिमों के प्रमुख संगठन रज़ा एकेडमी ने देश के मुसलमानों की धार्मिक भावनाओं से खिलवाड़ करते हुए पैगम्बर ए इस्लाम हजरत मुहम्मद (सल्ल) के लिए अपमानजनक बयान देने वाले नरसिम्हा नंद के खिलाफ मुंबई पुलिस के समक्ष शिकायत दर्ज कराकर तत्काल गिरफ्तारी की मांग की है।

रज़ा एकेडमी प्रमुख अल्हाज मुहम्मद सईद नूरी ने मुंबई पुलिस को भेजे शिकायती पत्र में कहा कि देश के सांप्रदायिक सौहार्द, भाईचारे को नुकसान पहुंचाने के लिए कथित भगवाधारी नेताओं की और से मुसलमानों की धार्मिक भावनाओं पर प्रहार किया जा रहा है। इस्लाम धर्म के पैगंबर हजरत मुहम्मद (सल्ल) और अन्य महापुरुषों के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणियां की जा रही है। जिससे स्वीकार नही किया जा सकता।

उन्होंने बताया कि नरसिम्हा नंद के भड़काऊ भाषण का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमे वह मुस्लिमों और इस्लाम के खिलाफ सख्त भड़काऊ और आपत्तिजनक बयान बाजी कर रहे है। उनके इन बयानों से देश की एकता और अखंडता को धक्का पहुंचा है।

नूरी साहब ने कहा कि जब से देश में भगवा सरकार सत्ता में आई  है। इस्लाम और मुसलमानों के खिलाफ भड़काऊ बयानबाजी की बाढ़ सी आ गई है। आए दिन हर कोई भगवा चौला पहनकर मुस्लिमों के खिलाफ जहर उगलता रहता है। लेकिन उन पर कोई कार्रवाई नही होती। ऐसा लगता है मानों सरकार ने ऐसे लोगों को खुली छूट दे रखी हो।

उन्होंने देश के तमाम मुस्लिम संगठनों और तंजीमों से नरसिम्हा नंद के खिलाफ नज़दीकी पुलिस थानों में एफआईआर दर्ज कराने को कहा। साथ ही उन्होंने मुस्लिमों से शांति बनाए रखने की भी अपील की।

नूरी साहब ने गृह मंत्रालय और खुफिया एजेंसियों से अपील करते हुए कहा कि इन भगवा चौला ओढ़े भेड़ियों की पहचान की सख्त जरूरत है। कहीं ये लोग दुश्मन देश के इशारों पर देश में साम्प्रदायिक दंगों की प्लांनिग तो नहीं कर रहे। जिससे देश को अस्थिर किया जा सके।