सलाफी प्रचारक जाकिर नाइक के एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन (आईआरएफ) पर भारत सरकार का शिकंजा के 78 बैंक खातों की जांच कर रही एनआईए ने कहा, ‘जाकिर नाइक के उन 78 बैंक खातों पर नजर रखी जा रही है जो भारत में हैं. साथ ही एनआईए ने दावा किया है कि रियल एसटेट में नाइक के एनजीओ का करीब 100 करोड़ रुपये लगा हुए हैं.

जनसत्ता की खबर के अनुसारएनआईए ने बताया, आईएस से जुड़े होने के संदेह में गिरफ्तार किए 80 प्रतिशत आरोपियों ने सामान्य स्कूलों में पढ़ाई की है. वहीं केवल 20 प्रतिशत आरोपियों ने किसी मदरसे से पढ़ाई की है. एनआईए ने ये भी जानकारी दी हैं कि आईएस से जुड़े होने के आरोप में गिरफ्तार किए गए आरोपियों में 50 प्रतिशत इस्लाम के अहले-हदीस फिरके को मानने वाले हैं. 30 प्रतिशत गिरफ्तार आरोपी तबलीगी जमात के और 20 प्रतिशत देवबंदी हैं. एनआईए द्वारा आईएस से जुड़े होने के शक में गिरफ्तार किए आरोपियों में कोई भी बरेलवी फिरके से नहीं है.

साल 2009 में गठित एनआईए आंतकवाद से जुड़े मामलों की जांच करती है. एनआईए ने साल 2016 में 112 लोगों को गिरफ्तार किया जिनमें से 66 जिहादी आतंकवाद से जुड़े मामलों में गिरफ्तार किए गए हैं. एनआईए ने साल 2016 में कुल 34 मामले दर्ज किए. एनआईए के गठन के बाद किसी भी साल एजेंसी द्वारा दर्ज किए जाने वालों मामलों की ये सर्वाधिक संख्या है.

भारत सरकार ने इस्लामिक स्टेट से जुड़े 12 मामलों की जांच एनआईए को सौंपी है. इन मामलों में 52 आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं। वहीं 35 आरोपी अभी तक फरार हैं और एनआईए को उनकी तलाश है.

 

नोट – कृपया ध्यानदें, यह आंकडें NIA के द्वारा दिए गये है, कोहराम न्यूज़ इस खबर की कोई ज़िम्मेदारी नही लेता.अधिक जानकारी के लिए आप नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी (NIA) की ऑफिसियल वेबसाइट http://www.nia.gov.in/ पर जाकर मालूमात कर सकते है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें