यूपी के बरेली में शनिवार देर शाम आईबी (IB) की टीम ने पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) के लिए जासूस करने के शक में एक संदिग्ध नेपाली को हिरासत में लिया है। नेपाली युवक के पास से प्रदेश के कानून मंत्री बृजेश पाठक के नाम से जारी एक प्रमाण पत्र भी मिला। जिसमें लिखा है कि वह गंगा बहादुर जोकि सरोजनी नायडू मार्ग तोपखाना के निवासी हैं, उनको भलीभांति जानते हैं।

पत्र के सबसे ऊपर आधार कार्ड प्रमाणपत्र लिखा है, नीचे बृजेश पाठक के हस्ताक्षर हैं व मुहर लगी हुई है। मंत्री ने इस प्रमाणपत्र को फर्जी बताया। कहा कि मैंने इस तरह का कोई प्रमाणपत्र जारी नहीं किया। पूरे मामले की जानकारी कर विधिक कार्रवाई करुंगा। इसके साथ ही गंगा बहादुर उर्फ सुमन बहादुर उर्फ मोहम्मद मंजर के नाम से बनाए गए आधार कार्ड से उसके फिंगर प्रिंट्स मैच हो गए हैं जबकि बिहार का बना मोहम्मद मंजूर के नाम का आधार कार्ड पुलिस को नहीं मिल पाया है।

युवक के पास नेपाल का आइडी कार्ड भी बरामद हुआ है। यह कार्ड सहयोग कर्मचारी महासंघ का है। इसमें उसका नाम सुमन बहादुर, पद उपाध्यक्ष और पता गुल्मी, दिबुड़, ग्राम वाई 6 लिखा हुआ है। नागरिकता के कॉलम में कुछ नंबरों के साथ गुल्मी लिखा हुआ है।

बरेली के एसपी सिटी रविंद्र कुमार ने बताया कि आईबी टीम को सूचना मिली कि एक संदिग्ध नेपाली बरेली के एक होटल में रह रहा है। जो यदा कदा आर्मी एरिया में घूमते देखा गया है। जिसके बाद आईबी टीम ने उस नेपाली युवक का दिन भर उसका पीछा किया। देर शाम जब वह अपने होटल पहुंचा तभी आईबी ने उसे हिरासत में ले लिया। आईबी ने पूछताछ के बाद उसे बरेली की कैंट थाना पुलिस को सौंप दिया है। पुलिस टीम को इसके कब्जे से नक्शा, दो मोबाइल , नौ सिम कार्ड के साथ कुछ संदिग्ध कागजात बरामद किए है। जिसकी पुलिस टीम जांच कर रही है।

रामद मोबाइल से कैंट पुलिस ने बात करने का तरीका पूछा तो उसने अपने घर फोन मिलाकर ऊं ऊं किया। जिसके बाद नेपाल में बैठी उसकी बहन उसे पहचान गई। उसकी बहनों ने बताया कि वह दस साल से घर नहीं आया है। भूकंप में उसका परिवार खत्म हो गया था। बचपन से बोल और सुन नहीं सकता। उन्होंने यह भी बताया कि गंगा उनका सौतेला भाई है। भूकंप में सबकुछ तबाह होने के बाद यह इधर-उधर घूमता रहता है। इसलिए वो उसके बारे में अधिक जानकारी नहीं दे सकते।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन