ed1

ed1

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के कर्ज के तौर पर तकरीबन 12 हज़ार करोड़ रुपये लेकर देश से फरार हुए हीरा कारोबारी नीरव मोदी ने सीबीआई जांच में सहयोग करने से साफ़ इनकार कर दिया है.

दरअसल, कथित घोटाले को लेकर सीबीआई ने नीरव मोदी को जाँच के लिए पेश होने को कहा था. नीरव मोदी ने अपनी कामकाजी व्यस्तता का हवाला देने हुए सीबीआई के समक्ष पेश होने में असमर्थता जताई है. इसके बाद अब एजेंसी ने मोदी को अधिक कड़ा पत्र जारी कर अगले सप्ताह उसके समक्ष पेश होने को कहा है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ध्यान रहे इससे पहले नीरव मोदी इस तरह से पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) और प्रवर्तन निर्देशालय (ईडी) को भी मना कर चूका है. साथ ही वह कर्ज की रकम लौटाने से भी मना कर चूका है.

साथ ही अब नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के खिलाफ ब्यूरो ऑफ इमिग्रेशन ने लुकआउट नोटिस जारी कर दिया गया है. साथ ही नीरव की चार और संपत्ति को भी जब्त कर लिया गया है. सीबीआई ने इस मामले में पीएनबी के आंतरिक मुख्य आॅडिटर एमके शर्मा को गिरफ्तार किया है.

 वहीँ प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गीतांजलि जेम्स और इसके प्रवर्तक मेहुल चौकसी की 41 संपत्तियों को कुर्क किया है जिनकी कीमत 1,200 करोड़ रुपये से अधिक है. निदेशालय ने इस मामले में धन शोधन (मनी लॉन्ड्रिंग) रोकथाम अधिनियम के तहत संपत्तियों की कुर्की के अस्थायी आदेश दिए हैं.