Wednesday, September 22, 2021

 

 

 

एनडीटीवी पर पाबंदी अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का उल्लंघन और लोकतंत्र पर हमला: अरशद मदनी

- Advertisement -
- Advertisement -

ar

नई दिल्ली: जमीअत उलेमा हिंद के अध्यक्ष मौलाना सैयद अरशद मदनी ने समाचार चैनल एनडीटीवी पर सरकार द्वारा एक दिन की पाबंदी आयद किए जाने की कड़ी निंदा करते हुए इसे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का उल्लंघन और लोकतंत्र पर हमला बताया है.

मौलाना मदनी ने कहा कि निष्पक्ष, ईमानदार और संतुलित समाचार एनडीटीवी की पहचान है. NDTV ने कई अवसरों पर देश के कमजोर वर्गों, अल्पसंख्यकों और दलितों के अधिकारों के लिए आवाज बुलंद की है और सरकार को आईना दिखाया है.

हाल ही में जब कई समाचार चैनल भोपाल एनकाउंटर पर शिवराज चौहान सरकार की वाह वाह में व्यस्त थे तब एनडीटीवी ने बहुत साहस दिखाते हुए उस मुठभेड़ की खामियों को उजागर किया था.

मौलाना मदनी ने कहा कि हालांकि मोदी सरकार ने एनडीटीवी के खिलाफ यह फरमान पठानकोट आतंकवादी हमले की रिपोर्टिंग के संबंध में जारी किया है लेकिन ये फैसला सिर्फ एक को लेकर किया गया जोकि गलत है.

मोलाना मदनी ने कहा कि मीडिया लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है और अगर देश का मीडिया कमजोर हुआ तो यह लोकतंत्र के लिए बेहद खतरनाक होगा और देश में तानाशाही को बढ़ावा मिलेगा.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles