nowherasheikh sohailkhan arbaazkhan

मुंबई: अपनी मां के साथ तिरुपति के दक्षिणी हिस्से में फेरी लगाकर सब्जियां बेचने वाली नौहेरा शेख को हलाल निवेश के नाम पर गरीब मुसलमानों की जीवनभर की कमाई लूटने को लेकर गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने शेख को करीब 500 करोड़ की धोखाधड़ी की आरोप में गिरफ्तार किया है।

इस दौरान उन्होंने जांचकर्ताओं को बताया है कि उन्हें नोटबंदी और गुड्स ऐंड सर्विसेज टैक्स (GST) के लागू किए जाने की वजह से तगड़ा आर्थिक नुकसान हुआ। नौहेरा के मुताबिक, इसी वजह से वे लोगों को उनके निवेश पर लाभांश देने में नाकाम रहीं। शेख ने कहा कि 2018 की शुरुआत से ही वह निवेशकों को मासिक तौर पर लाभांश देने में नाकाम रहीं, जिसके बाद निवेशकों ने पुलिस से संपर्क किया।

मामले से संबंधित एक अधिकारी के मुताबिक, शेख ने जांच के दौरान बताया कि वह करीब एक दशक से निवेशकों को लाभांश का भुगतान कर रही है, लेकिन 2017 की शुरुआत से पेमेंट के मोर्चे पर वह कमजोर पड़ने लगी। अधिकारी के मुताबिक, ‘मई 2017 में उसने निवेशकों को सर्कुलर जारी करके कहा कि अब वह हर तिमाही लाभांश का भुगतान करेगी। ऐसा उसने कुछ महीने तक किया भी। हालांकि, इस साल की शुरुआत से तिमाही भुगतान भी रुक गया।’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अधिकारी के मुताबिक, पूछताछ के दौरान शेख ने पूरे आत्मविश्वास के साथ जवाब दिए और कहा कि अगर जांच करने वालों को भरोसा न हो तो वे उनके पुराने बैंक स्टेटमेंट देख सकते हैं। अधिकारी के मुताबिक, ‘शेख के मुंबई के एजेंट सलीम अंसारी के नाम भी एफआईआर दर्ज की गई है। करीब 20 हजार लोगों ने उसके जरिए पैसे लगाए। अंसारी के अलावा शहर में बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो शेख के लिए काम कर रहे थे। ऐसे में निवेशकों की संख्या बहुत ज्यादा हो सकती है।’

शेख को पिछले महीने 26 अक्टूबर को गिरफ्तार किया गया था। वह इस वक्त मामले की जांच कर रही इकोनॉमिक ऑफेंसेज विंग की कस्टडी में हैं। उनकी कस्टडी 9 नवंबर को खत्म होगी।

Loading...