उन्नाव रेप केस में सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका (PIL) की सुनवाई के दौरान जज के एक सवाल से पूरे कोर्ट रूम में सन्नाटा छा गया. दरअसल, बेंच ने वकील से तीखा सवाल करते हुए कहा कि क्या आपके किसी रिश्तेदार से बलात्कार हुआ है?

बता दें कि वकील एमएल शर्मा ने सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर कर आरोप लगाया गया था कि पुलिस बलात्कार के ऐसे मामलों में FIR दर्ज नहीं कर रही है जिनमें मंत्री, सांसद और विधायक जैसे ताकतवर लोग शामिल होते हैं.

याचिका में आरोप लगाया गया है कि बलात्कार पीड़ित के पिता को राज्य में ‘सत्तारूढ़ दल’ के आदेश पर पुलिस हिरासत में यातना दी गई और मार डाला गया था. जनहित याचिका में यह मांग भी की गई थी कि पीड़ितों को सुरक्षा और मुआवजा दिया जाए, जैसा कि निर्भया गैंगरेप केस में हुआ था.

kuldeep singh 620x400

इस पर न्यायाधीश एसए बोवडे की अध्यक्षता वाली पीठ ने शुक्रवार को सुनवाई की. इस दौरान अदालत ने पूछा कि क्या आपके किसी रिश्तेदार से बलात्कार हुआ है? पीठ ने कहा है कि आपराधिक मामलों को लेकर जनहित याचिकाएं कैसे दायर की जा सकती हैं? पीठ ने वकील से पूछा कि उनका उन्नाव मामले से क्या रिश्ता है और वो इससे कैसे प्रभावित हैं?

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने पहले ही इस मामले में कुछ आदेश दिए हैं. शर्मा जी आप इस मामले में प्रभावित व्यक्ति नहीं हैं. आपराधिक मामले में जनहित याचिका दायर नहीं हो सकती है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?