ravishank

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए मुस्लिम पक्ष पर दबाव डाल कर बाबरी मस्जिद की जमीन लेने में जुटे आर्ट ऑफ लिविंग के प्रमुख श्री श्री रविशंकर उस समय असहज हो गए. जब श्री श्री रविशंकर से आरएसएस और बीजेपी को लेकर उनसे सीधे सवाल पूछा गया.

दरअसल, ‘द वायर हिंदी’ के साथ इंटरव्यू में एंकर आरफा खानम शेरवानी ने सवाल किया कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) आपसे राम मंदिर के मसले पर सहमत हैं तो अचानक श्री श्री के समर्थक आ जाते हैं और इंटरव्यू वहीं खत्म करने के लिए दबाव डालने लगते हैं.

इस दौरान खानम कहती है कि “कम से कम मुझे ऑन एयर (कैमरे के सामने) तो इंटरव्यू पूरा करने दीजिए.” इसके बाद रविशंकर अपना माइक हटाकर कैमरे के सामने से चलते बने. आपको बता दें कि कुछ साल पहले इसी तरह  पीएम मोदी ने भी इंटरव्यू बीच में छोड़ा था। वह तब गुजरात के मुख्यमंत्री थे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सीएनएन आईबीएन के कार्यक्रम ‘डेविल्स एडवोकेट’ के लिए वरिष्ठ पत्रकार करण थापर उनका इंटरव्यू ले रहे थे. गुजरात दंगों पर गलती महसूस होने और मोदी की छवि मुस्लिम विरोधी होने के सवाल पर तत्कालीन सीएम ने इंटरव्यू छोड़ दिया था. पहले उन्होंने पानी मांगने का बहाना किया. फिर माइक्रोफोन हटाया और कहा कि वह आगे इंटरव्यू नहीं देंगे.

इसे लेकर सोशल मीडिया पर लोगों ने कहा कि महिला एंकर ने श्री श्री को अपने सवालों से पानी पिला दिया. कुछ लोगों ने इसे श्री श्री की इंटरव्यू छोड़ने की कला (आर्ट ऑफ लीविंग एन इंटरव्यू) करार दिया.