am

बीते दिनों अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में पूर्व उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी के दौरे के दौरान हिंदुत्ववादी कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी के खिलाफ पिछले कई दिनों से AMU छात्रों का कार्रवाई की मांग को लेकर धरना जारी है.

इस घटना के विरोध में अब AMU फॉर्मर स्टूडेंट्स के संगठन एएमयू ओल्ड ब्वायज एसोसिएशन ने दिल्ली के बारहखंबा रोड पर धरना-प्रदर्शन किया. जिसमे ने केवल AMU के बल्कि जामिया मिलिया इस्लामिया, दिल्ली विश्वविद्यालय, जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के भी छात्र, शिक्षक भी शामिल हुए.

एएमयू ओल्ड ब्वायज एसोसिएशन दिल्ली के अध्यक्ष ने इस मामले में कहा कि अगर देश का कानून इजाजत देता है तो पाकिस्तान के कायदेआजम मुहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर लगी रहेगी. अगर कानून इस पर रोक लगाता है तो ये तस्वीर हटा ली जाएगी.

amm

उन्होंने कहा कि जिन्ना केवल एक इतिहास का हिस्सा है. ऐसे में हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं के कहने पर जिन्ना की तस्वीर को नहीं हटाया जाएगा. जिन्ना की तस्वीर सिर्फ AMU में ही नहीं बल्कि पार्लियामेंट, बॉम्बे हाईकोर्ट, साबरमती आश्रम आदि में लगा हुआ है.

उन्होंने बताया कि 2015 में बॉम्बे हाईकोर्ट के जिस हॉल का उद्घाटन पीएम मोदी ने किया था. उसमे महात्मा गाँधी के साथ जिन्ना की तस्वीर लगी हुई है. इतना ही नहीं साबरमती आश्रम में जिन जगहों पर मोदी ने तस्वीर ली वहां भी जिन्ना का फोटो लगा हुआ है. ऐसे में सवाल उठता है कि जिन्ना की तस्वीर को लेकर AMU को निशाना क्यों बनाया जा रहा है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें