leaders addressing the rally to condenme bjp govt

नई दिल्ली: कथित गौहत्या के आरोप में मारे गए पहलु खान की पहली पुण्यतिथि पर भूमि अभिकरण आंदोलन ने मंगलवार को एक विरोध रैली का आयोजन किया.

इस दौरान राजस्थान की भाजपा सरकार की निंदा करते हुए, वक्ताओं ने कहा कि यह देखने के लिए शर्मनाक है कि राज्य सरकार गौ रक्षा के नाम पर हुई हत्याओं के मामलें में पीड़ितों के लिए न्याय करने में नाकाम रही है.

बता दें कि 3 अप्रैल, 2017 को, हरियाणा के नूह जिले के एक डेयरी किसान पीहलु खान और उसके चार साथियों पर गाय खरीद कर लाते वक्त हिंदुत्व समूहों ने हमला किया था. जिसमे पहलू खान की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई थी. वहीँ अन्य जख्मी हुए थे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस अवसर पर पूर्व सांसद हन्नान मल्लाह ने कहा कि जब से पहलू खान की हत्या हिया है. इस तरह के 300 से अधिक मामले सामने आ चुके है. जिस्न्मे पीड़ित डेयरी किसान, दलित और मुस्लिम मवेशियों के व्यापारी थे. और उनमें से किसी को भी अब तक न्याय प्राप्त नहीं मिला है. उन्होंने कहा, इस समय देश को राजनीतिक रूप से प्रेरित हत्याओं के खिलाफ आंदोलन के रूप में खड़ा होना चाहिए है.

वहीँ एनके शुक्ला ने कहा कि मवेशी व्यापारियों और डेयरी किसानों पर निरंतर हमले देश के डेयरी क्षेत्र को कमजोर करने के लिए बनाई गई एक बड़ी प्लानिंग का हिस्सा है. ये हमले किसानों के जीवन में डर पैदा कर रहे हैं, जो पहले से ही परेशान हैं क्योंकि उन्हें उचित एमएसपी नहीं मिल रहा है, वे कर्जों से बोझ हैं और आत्महत्या करने के लिए प्रेरित हो रहे हैं.

Loading...