संविधान निर्माता और भारत रत्न भीमराव अंबेडकर के पोते प्रकाश अंबेडकर ने SC/ST एक्ट विवाद को लेकर बुलाए गए राष्ट्रव्यापी बंद के दौरान विभिन्न राज्यों में आज हुई हिंसा के लिए उच्चतम न्यायालय एवं केंद्र को जिम्मेदार बताया है.

अंबेडकर ने मंगलवार को केंद्र सरकार को चेताते हुए कहा है कि अगर अब भी नहीं जागे या सुधारात्मक फैसला नहीं लिया गया तो हालात कश्मीर से भी बदतर हो जाएंगे। मुंबई में इंडिया टुडे के एक कार्यक्रम में प्रकाश अंबेडकर ने कहा, “जो कुछ भी हुआ वह हालात के खिलाफ अनुसूचित जाति में बढ़ती अशांति का संकेत है, जहां कुछ लोग कहते हैं कि वे देश के मालिक हैं।. कश्मीर में समस्या सिर्फ दो-तीन जिलों तक ही सीमित है.”

bharat bandh 1522649681

उन्होंने आगे कहा कि अल्पसंख्यक असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। मुस्लिम समुदाय पहले ही नाराज है. अब अल्पसंख्यक जैसे ईसाई और जैन भी सरकार के खिलाफ हैं. हाल की कार्रवाई ने दलितों को भी नाराज कर दिया है.

अंबेडकर ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर भी नाराजगी जताई. उन्होंने कहा कि दलित का एक्ट का गलत इस्तेमाल हो सकता है, यह दलील ठीक नहीं है. इस एक्ट के दुरुपयोग का प्रतिशत बहुत कम है.

हिंसा को लेकर अंबेडकर ने कहा, ‘‘सरकार और उच्चतम न्यायालय इस हिंसा के लिए जिम्मेदार हैं. सरकार दलित समुदायों के लिए असुरक्षित माहौल रच रही है. उन्होंने कहा कि सरकार हिंसा फैलने से रोकने के लिए समय से कदम उठाने में नाकाम रही.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?