amu students protest against members of saffron outfit who were trying to entre amu on 02 may 2018. photo @amujournal

बीते दिनों पूर्व उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी के दौरे के दौरान अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में हिंदुत्ववादी कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी के बाद उपजा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. अब ये विवाद दिल्ली पहुँच चूका है.

दरअसल, दोषियों पर कार्रवाई की मांग और विवाद की न्यायिक जांच को लेकर रविवार को मंडी हाउस पर एएमयू ओल्ड ब्वायज एसोसिएशन, दिल्ली ने धरना दिया. जिसमे जामिया मिलिया इस्लामिया, दिल्ली विश्वविद्यालय, जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के भी छात्र, शिक्षक शामिल हुए.

एएमयू ओल्ड ब्वायज एसोसिएशन दिल्ली के अध्यक्ष इरशाद अहमद ने कहा कि दो मई को जो एएमयू कैंपस में घटना हुई, उसकी न्यायिक जांच की जाए. एएमयू छात्रों के साथ मारपीट करने वाले आरोपितों पर नेशनल सिक्योरिटी एक्ट लगाया जाए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने आगे कहा कि उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा छात्रों पर किए गए लाठीचार्ज की भी जांच किया जाए और पुलिस अधिकारियों पर उचित कार्रवाई करनी चाहिए. उन्होंने इस पुरे मामले के लिए यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के संगठन हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं को जिम्मेदार ठहराया.

एसोसिएशन के वरिष्ठ उपाध्यक्ष डॉ. शादाब महमूद ने कहा कि पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी के कार्यक्रम के शुरू होने से पहले यह हंगामा हुआ. जिन्ना की तस्वीर के बहाने उनके कार्यक्रम को खराब करने का यह प्रयास किया गया था.

Loading...