देश भर में हिंदुत्ववादियों की और से अल्पसंख्यकों और दलितों के खिलाफ हो रही हिंसा को लेकर दिल्ली के आर्कबिशप अनिल काउटो ने सभी चर्च के पादरियों को एक चिट्ठी लिख कर भारत की राजनीतिक स्थिति को अशांत बताय़ा था. साथ ही उन्होंने प्रार्थना की भी अपील की थी.

ऐसे में इस मामले में अब केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, ‘भारत में सभी अल्पसंख्यक सुरक्षित है और यह एक मात्र ऐसा देश है जहां पर मजहब के नाम पर भेदभाव नहीं होता है.’ उन्होंने कहा, मैंने आर्कबिशप का कोई खत नहीं देखा है, लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि भारत उन देशों में से एक है जहां अल्पसंख्यक सुरक्षित हैं और किसी को जाति और धर्म के आधार पर भेदभाव करने की अनुमति नहीं है.’

आर्कबिशप अनिल काउटो ने अपने पत्र में कहा था कि ‘हमलोग वर्ष 2019 की ओर बढ़ रहे हैं जब हमें नई सरकार मिलेगी. ऐसे में हमें 13 मई से अपने देश के लिए प्रार्थना अभियान शुरू करना चाहिए.’  उन्होंने लिखा था, ‘मौजूदा अशांत राजनीतिक मौहाल संविधान में निहित हमारे लोकतांत्रित सिद्धांतों और हमारे देश के धर्मनिरपेक्ष तानेबाने के लिए खतरा बन गया है.’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Archbishop Anil Couto has requested the Christian community to pray and observe fast for the “spiritual renewal” of the country ahead of next year’s general elections.

वहीँ अल्पसंख्य मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा है कि मोदी सरकार सबका साथ सबका विकास के मूल मंत्र के साथ हर तबके के कल्याण की योजनाओं पर काम कर रही है.

Loading...