UPSC परीक्षा में अल्पसंख्यक समुदाय की ऐतहासिक कामयाबी को लेकर अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि मोदी सरकार की बिना किसी भेदभाव के स्वाभिमान के साथ विकास और की नीति के कारण अल्पसंख्यक समुदाय के 131 लोग सिविल सर्विस में चुने गए हैं जिनमें से 51 मुस्लिम भी शामिल हैं.

इस कामयाबी को उड़ान योजना का असर करार देते हुए केंद्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कोचिंग के लिए दी जाने वाली राशि को दोगुना कर दिया है. उन्होंने बताय, अभ्यर्थियों को पहले मिल रहे 50 हजार रुपये की जगह अब तैयारी एक लाख रुपये मिलेंगे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा, ‘ मोदी सरकार की नीति स्वाभिमान के साथ विकास जिसमें किसी के साथ कोई भेदभाव नहीं होता ने आजादी के बाद पहली बार ये सुनिश्चित किया है कि इतनी अल्पसंख्यक समुदाय के चुने गए.

नकवी ने कहा कि मंत्रालय अल्पसंख्यक समुदाय के मेधावी छात्रों को मुफ्त कोचिंग योजना चला रहा है ताककि उन्हें यीपीएससी परीक्षाओं की तैयारी में सहायता मिल सके.

उन्होंने बताया कि मंत्रालय नई उड़ान और नया सवेरा नाम से कोचिंग प्रोग्राम चला रहा है और जिसके तहत यूपीएससी, मेडिकल, इंजीनियरिंग और प्रशासनिक सेवाओं की परीक्षाओं की तैयारियां कराई जाती हैं.

Loading...