madhuri gupta 1526651119

दिल्ली की एक अदालत ने पूर्व राजनयिक माधुरी गुप्ता को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए जासूसी करने के मामले में दोषी करार दिया है. उनकी सजा पर शनिवार को सुनवाई होगी.

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सिद्धार्थ शर्मा ने पूर्व राजनयिक को सरकारी गोपनीयता कानून के विभिन्न प्रावधानों के तहत दोषी ठहराया है. बता दें कि माधुरी इस्लामाबाद में भारतीय दूतावास में द्वितीय सचिव (प्रेस और सूचना) के पद पर नियुक्त थीं.

इस दौरान उन्होंने  पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI को भारत की गुप्त जानकारियां दी. जिसके बाद उन्हें 22 अप्रैल 2010 को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया था. इसके तत्काल बाद उन्हें निलंबित कर दिया गया था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

माधुरी गुप्ता के खिलाफ जुलाई 2010 में दाखिल किए गए आरोपपत्र के अनुसार वह दो आईएसआई अधिकारियों मुबशर रजा राणा और जमशेद के संपर्क में थीं. उनका जमशेद के साथ रिश्ता था और वह उससे शादी की योजना बना रही थी.

आरोपपत्र में कहा गया था कि वह इस्लामाबाद के अपने आवास पर लगे एक कंप्यूटर और ब्लैकबेरी फोन के जरिये दोनों पाकिस्तानी जासूसों से संपर्क में रहती थीं. हालांकि माधुरी गुप्ता का दावा है कि वह निर्दोष हैं.

Loading...