pnb

पहले ही घोटाले की मार झेल रहे देश के दूसरे सबसे बड़े सरकारी बैंक पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) को अब बड़ा घाटा लगा है. मार्च तिमाही में बैंक को 13,417 करोड़ रुपये का भारी घाटा हुआ है.

इस घाटे की मुख्य वजह बैंक का डूबता कर्ज है. बैंक को 2016-17 की इसी तिमाही में 261.90 करोड़ रुपये का लाभ हुआ था. कुल आमदनी भी चौथी तिमाही में पिछले साल के मुकाबले 14,989.33 करोड़ रुपये से घटकर 12,945.68 करोड़ रुपये पर रह गई है.

आपको बता दें कि नीरव मोदी जैसे घोटालों से बैंक का कर्ज डूब गया है. इसका असर बैंक की बैंलेंसशीट पर भी देखने को मिला है. 2018 की चौथी तिमाही में पीएनबी की ब्याज आय 16.8 फीसदी घटकर 3,063.4 करोड़ रुपये रही है.

वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में पीएनबी की ब्याज आय 3,683.5 करोड़ रुपये रही थी. एनपीए अब पिछले साल की तुलना में 7.81 फीसदी से बढ़कर 11.24 फीसदी हो गया.

रुपये में देखें तो तिमाही आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में पीएनबी का नेट एनपीए 34,076 करोड़ रुपये से बढ़कर 48,684 करोड़ रुपये रहा है. तिमाही दर तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में पीएनबी का ग्रॉस एनपीए 57,519 करोड़ रुपये से बढ़कर 86,620 करोड़ रुपये रहा है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें