anki

पश्चिमी दिल्ली के रघुबीर नगर में रविवार को अंकित सक्सेना के पिता यशपाल सक्सेना ने मुहब्बत और भाईचारे का संदेश देते हुए इफ्तार का आयोजन कर नफरतों के मुंह पर तमाचा दिया है.

बता दें कि 4 महीने पहले यशपाल सक्सेना ने एक प्रेम प्रसंग के मामले में अपने बेटे को खोया था. हत्या का आरोप लड़की के परिवार था. जो की मुस्लिम समुदाय से था. दक्षिणपंथियों ने इस मामले के जरिए खूब नफरत फैलाई थी.

लेकिन अब समाज में हिंदू- मुस्लिम भाइचारे के संदेश देने के मकसद से अंकित सक्सेना के परिवार ने रविवार को इफ्तार का आयोजन किया. ताकि कोई और अंकित न बने. बता दें कि अंकित इकलौता बेटा था. मॉडलिंग करता था, वीडियो बनाता था, फ़ोटोग्राफ़ी करता था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ankit

बेटे की मौत के कुछ महीने पहले ही यशपाल की हार्ट सर्जरी हुई थी, इसलिए बेटे ने पापा की दुकान बंद करवा दी थी और आराम करने के लिए घर पर बिठा दिया था. बेटे की मौत से दुखी यशपाल कहते हैं, “मेरे पास कुछ नहीं है. दो वक़्त का खाना भी पड़ोसियों के भरोसे चल रहा है. आगे क्या और कैसे होगा कुछ पता नहीं…लेकिन हो ही जाएगा.”

उनका कहना है कि यह सिर्फ फॉर्मेलिटी नहीं है. इस इफ्तार पार्टी से उन्होंने एक पैगाम को देने की कोशिश है. वह उन लोगों को मेसेज देना चाहते हैं जो समाज में जाति या धर्म के नाम पर एक-दूसरे को बांटने की कोशिश करते हैं. उन्होंने कहा कि हमें अंकित की हत्या में शामिल उन सभी लोगों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए. उन्हें उस दिन का इंतजार रहेगा जब उन्हें इंसाफ मिलेगा.

Loading...