o p rawat cec 620x400

चुनाव आयोग द्वारा कर्नाटक विधान सभा चुनाव की तारीखों की घोषणा से पहले ही बीजेपी के आईटी सेल के हेड अमित मालवीय द्वारा कर्नाटक चुनावों की तारीखों के ऐलान को अब चुनाव आयोग ने गंभीरता से लिया है.

मुख्य चुनाव आयुक्त ओ पी रावत ने इस पुरे मामले की जांच के लिए अधिकारियों की एक कमेटी बनाई है. कमेटी को सात दिनों के अंदर रिपोर्ट देने को कहा गया है. कमेटी को मुख्य चुनाव आयुक्त ने यह जांच का जिम्मा सौंपा है कि चुनाव की तारीख कैसे लीक हुई?

बता दें कि चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अमित मालवीय ने ट्वीट कर कहा, कर्नाटक में 12 मई को वोटिंग होगी. मालवीय का ये ट्वीट 11 बजकर 8 मिनट पर सामने आया. जबकि चुनाव आयोग ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में 11 बजकर 15 मिनट पर तारीखों का ऐलान किया.

amit malviya tweet image

हालांकि अमित मालवीय ने ट्वीट कर कुछ मिनटों के बाद ही ट्वीट डिलीट कर दी. लेकिन ट्वीट का स्क्रीनशोर्ट वायरल हो चूका था.

ऐसे में सवाल उठा कि आखिर बीजेपी के पास ये जानकारी कैसे पहुंची. जब आयोग से पूछा गया तो मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि कुछ चीजें लीक हो सकती हैं. इस पर हम निश्चित तौर पर कार्रवाई करेंगे.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें