bharat bandh 1522649681

नई दिल्लीः अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम में सुर्पीम कोर्ट की और से तत्काल गिरफ्तारी पर लगाई गई रोक के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे दलितों का आंदोलन उग्र रूप धारण कर चूका है.

आंदोलन के उग्र होने की वजह से अब तक 6 लोगों से ज्यादा की जान जा चुकी है, मध्यप्रदेश में चार लोगों की मौत हो गई जबकि राजस्थान में भी एक के मौत की खबर है. इसके अलावा उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद से भी एक शख्स की मौत की खबर आ रही है.

दलित आंदोलन: मध्यप्रदेश में बदतर हुए हालात, 4 की मौत कई घायल, कर्फ्यू लागू - बुलाई गई सेना

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

राजस्थान के बाड़मेर और मध्य प्रदेश के भिंड में दो गुटों में हुई झड़प में करीब 30 लोग जख्मी हुए हैं. बाड़मेर में कई वाहनों में आग लगाई गई है। पंजाब, बिहार, और ओडिशा में भी बंद का व्यापक असर है. यहां प्रदर्शनकारियों ने न सिर्फ रेल रोका है बल्कि सड़क जाम कर परिवहन व्यवस्था को भी नुकसान पहुंचाया है. मेरठ में पुलिस चौकी में आग लगा दी गई है.

PunjabKesari

मुजफ्फरनगर के नई मंडी थाने पर प्रदर्शनकारियों ने पत्थरबाजी की जिसके बाद पुलिस ने फायरिंग की.गाजियाबाद में रेलवे ट्रैक पर बड़ी तादाद में दलित प्रदर्शनकारी जुट गए. मेरठ में दिल्ली-देहरादून हाइवे पूरी तरह से बंद हो गया है। इसके अलावा 2 बसों को भी आग के हवाले कर दिया गया. दलित प्रदर्शनकारियों ने मेरठ में कंकरखेड़ा थाने की शोभापुर पुलिस चौकी को भी आग के हवाले कर दिया.

ग्वालियर में प्रदर्शनकारियों ने फायरिंग की जिसमें दो लोगों की मौत हो गई. मुरैना में भी दो लोगों की मौत हो गई. बाड़मेर में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़प भी देखने को मिली जिसमें पुलिस समेत करीब 25 लोग घायल हो गए.

Loading...