amu 620x400

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) में शुरू हुआ विवाद राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग तक जा पहुंचा है. पुलिस के लाठी चार्ज में कुछ छात्रों के घायल होने की घटना को लेकर राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने एएमयू के कुलपति और जिला प्रशासन से रिपोर्ट तलब की है.

एएमयू के पूर्व छात्र नेताओं के संगठन ‘एएमयू स्टूडेंट लीडर्स फोरम’ की शिकायत के बाद आयोग ने विश्वविद्यालय के कुलपति और जिलाधिकारी को आज नोटिस जारी कर तीन दिन के भीतर पूरी घटना पर रिपोर्ट देने को कहा है.

आयोग के अध्यक्ष सैयद गैयूरुल हसन रिजवी ने बताया, ‘हमारे पास कल की घटना को लेकर शिकायत की गयी है. इस पर हमने एएमयू के कुलपति (तारिक मंसूर) और अलीगढ़ के जिलाधिकारी (चंद्रभूषण सिंह) को नोटिस जारी किया है. हमने तीन दिन के भीतर पूरी घटना पर रिपोर्ट देने को कहा है. रिपोर्ट मिलने के बाद आगे का कदम उठाया जायेगा.’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Image result for minority commission

वहीँ शिकायतकर्ता ‘एएमयू स्टूडेंट लीडर्स फोरम’ के अध्यक्ष मोहम्मद शम्स शाहनवाज ने कहा, ‘एएमयू देश का प्रतिष्ठित संस्थान है और देश में इसका बहुत योगदान है. इस संस्थान को राजनीति का अखाड़ा बनाने की कोशिश की जा रही है. हमने आयोग से आग्रह किया है कि वह कल की घटना का संज्ञान ले और दोषियों पर कार्रवाई सुनिश्चित कराये.’

बता दें कि अलीगढ़ में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद व हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने बुधवार को उस वक्त जमकर हंगामा मचाया. जब पूर्व उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी ने यूनिवर्सिटी की यात्रा की.

दरअसल, यूनिवर्सिटी की और से आज यानी 2 मई को पूर्व उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी को आजीवन मानद सदस्यता दी जानी थी. इस घटनाक्रम के बाद राष्ट्रपति बुधवार शाम को दिल्ली लौट गए.

Loading...