Monday, December 6, 2021

मुस्लिम महिलाओं को सार्वजनिक क्षेत्रों में आने से बचना चाहिए: अबूबकर मुसलियार

- Advertisement -

केरल के सुन्नी मुस्लिम नेता कंथपुरम एपी अबूबकर मुसलियार ने मुस्लिम महिलाओं से अपील करते हुए कहा कि उन्हें सार्वजनिक जीवन में नहीं आना चाहिए. सुन्‍नी यूथ सोसायटी के प्रमुख कांथापुरम ने कहा, ”अगर महिलाएं आगे आती हैं तो इससे हिंसा और आपदा आ सकती है.”

सुन्नी युवा सोसाइटी द्वारा आयोजित कार्यक्रम में बोलते हुए, कंथपुरम ने कहा, “पुरुषों के विपरीत महिलाओं को सार्वजनिक क्षेत्रों में बाहर नहीं जाना चाहिए क्योंकि इस्लाम ने इसे अनुमति नहीं दी है और इसके कुछ कारण हैं. अगर महिला आगे आती है तो हिंसा और आपदा हो सकती है और इस दृश्य को सिद्ध करने के लिए उदाहरण हैं “.

कंथपुरम केरल के मालाबार क्षेत्र में सबसे मजबूत सुन्नी मुस्लिम नेताओं में से एक है. उनका ये बयान केरल प्रोफेसर के बयान के हफ्तों भर बाद आया है, जिसमें उन्‍होंने कहा था कि मुस्लिम लड़कियां कायदे से हिजाब नहीं पहन रहीं हैं और अपनी छाती को ‘कटे हुए तरबूज’ जैसे दिखा रही हैं.

इस मामले में एक छात्रा की शिकायत के आधार पर प्रोफेसर के खिलाफ मामला दर्ज किया गया, लेकिन पुलिस ने अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं की है. वहीँ दूसरी और समुदाय के लोगों ने भी प्रोफेसर का समर्थन करते हुए पुलिस की कार्रवाई का विरोध किया है.

बता दें कि इस्लाम में महिलाओं को एक ऊँचा मर्तबा दिया गया है. साथ ही महिलाओं की हिफाजत को सर्वोपरि रखा गया है.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles